प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना ( Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojna) की शुरुआत अप्रैल 2015 में भारत सरकार द्वारा गरीबों के कल्याण हेतु किया गया था। इस योजना का उद्देश्य  गरीबों के कल्याण के लिए, भारत सरकार द्वारा गरीबों के हित एवं कल्याण से सम्बंधित पूर्ववर्ती योजनाओं को सही प्रकार से लागु करना है। इसके लिए भारत सरकार ने एक कार्यशाला का भी आयोजन किया था जिससे लोगो को इस बारे में जागरूक किया जा सके।  इसी क्रम में नवम्बर 2016 में भारत सरकार द्वारा इनकम टैक्स में संसोधन किया गया है जिससे की गरीबों से सम्बंधित कल्याणकारी योजनाओ को सुचारू रूप से  प्रभावी करने हेतु अतरिक्त धन का प्रबंध किया जा सके।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ कौन उठा सकता है?

यह योजना गरीबों के कल्याण हेतु है। अत: कोई भी भारतीय नागरिक जो गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करता है इस योजना का लाभ उठा सकता है। इसके लिए अगर वह ग्रामीण क्षेत्र का है तो ग्राम-पंचायत तथा शहरी क्षेत्र का है तो नगरपलिका से संपर्क कर विस्तृत जानकारी ले सकता है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना ( Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojna) का विस्तार

भारत सरकार के वित्त मंत्री अरुण जेटली से 29 नवम्बर 2016 को इनकम टैक्स एक्ट में संशोधन के लिये एक विधेयक प्रस्तावित किया ।जिसके द्वारा 30 दिसम्बर 2016 तक जो व्यक्ति जिसके पास भी कालाधन या अवैधानिक तरीके से कमाई  गयी सम्पति है । जिस पे इनकम टेक्स नहीं दिया गया  है अगर अपने धन का स्वं खुलासा करता है तो उस धन पे 49.9 % (लगभग 50%) का टेक्स लगेगा । बाकि की 25% धनराशी  को 4 वर्षो के लिये प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में जमा करा दिया जायेगा । इसके साथ ही साथ उस धनराशी पर कोई ब्याज नहीं दिया जायेगा । आगामी 4 वर्षो तक यह धनराशी फ्रीज़ अवस्था में रहेगी| यहाँ फ्रीज़ अवस्था से तात्पर्य ये है की वह व्यक्ति उस धन का उपयोग नहीं कर पायेगा । 4 वर्षो के बाद वह धन राशी उस व्यक्ति की वापस दे दि जाएगी| बाकि की 25% धनराशी का उपयोग वह व्यक्ति  तत्काल कर सकता है।

एक उदहारण के माध्यम से हम इसे आसानी से समझ सकते है। मान लीजिये की किसी व्यक्तिके पास कालाधन के रूप में 100 रूपये है-

  1.  इस 100 रूपये पर 49.9 %( लगभग 50% का टेक्स लग  जायेगा i.e. 100 का 50% = 50 रूपये टैक्स में चला जायेगा
  2. उस 100  रूपये का 25% , प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में चला जायेगा (100 का25 % = 25 रूपये)
  3. और 100 रूपये का बाकि बचा हिस्सा 25 रूपये उस व्यक्ति को तुरंत वापस दे दिया जायेगा

साथ ही साथ प्रस्तावित संशोधनों में यह भी प्रावधान है कि अगर 30 दिसम्बर 2016 तक किसी व्यक्ति अपना काला धन घोषित नहीं किया है  और इनकम टैक्स विभाग को उस धन का पता लग जाता है तो  उस स्थिति में उस सम्पूर्णराशी का 85% टैक्स और जुर्माने के रूप में वसूला जायेगा।

ये भी पढ़े

                    प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना उपयोगिता

किसी योजना को बनाने और लागु करने के लिये बहुत अधिक मात्रा में धन  की आवश्कता होती है। खास तौर पर गरीबो के लिये बनायीं गयी योजना में । इस योजना में एकत्रित धन का उपयोग सरकार भारत के गरीबो के लिये नयी योजनायें बनाने में करेगी जिससे देश की गरीब जनता के जीवन स्तर को उपर उठाने में मदद मिलेगी, साथ ही साथ उनके लिये भोजन , स्वच्छ पानी ,रहने के स्थान और स्वास्थ्य संबधित आवश्कता की पूर्ति की जा सकती है। ये भारत सरकार का एक अच्छा प्रयास कहा जा सकता है।

Join the Conversation

2 Comments

  1. My self Jayanand pandey
    sir mai Ghazipur district se hu .my father a good former. hm log ek grip family se h.hm apni sisters or ma ka ilaj karni h , ghr v thik nhi h , washrooms v nhi h . es liye aap log hme ye sb pura krne k liye koi path btaye
    thanks all of you

    1. सर,
      अगर आप इस योजना या किसी भी सरकारी योजना का लाभ लेना चाहते है तो अपने ग्राम-पंचायत या नगर निकाय से सरकारी योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करे और अपनी पात्रता सुनिश्चित करे।

Leave a comment

Leave a Reply to Utsav Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *